Ashwagandha powder benefits in hindi| Full Review

0
14
Ashwagandha powder benefits in hindi

अगर आप आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट का इस्तेमाल अपनी समस्या के लिए करते हैं तो आपने अश्वगंधा का नाम भी अवश्य सुना होगा, जो कि एक जड़ी बूटी होती है। इस पोस्ट में आप Ashwagandha powder benefits in hindi और इससे जुडी कई जरुरी चीजें जानेंगे! जो जानकारी आपके बेहद काम आएगी!

इस जड़ी बूटी का इस्तेमाल अनेक प्रकार के रोगों को दूर करने के लिए किया जाता है। अश्वगंधा का काफी लंबे समय से इस्तेमाल यूनानी और आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में किया जा रहा है। गर्म तासीर वाला अश्वगंधा अनेक प्रकार से इंसानों की अलग-अलग समस्याओं को दूर करने के लिए इस्तेमाल में लिया जा सकता है।

इसलिए अश्वगंधा के फायदे के बारे में जानना अति आवश्यक है, साथ ही यह भी जानना आवश्यक है कि अश्वगंधा वास्तव में होता क्या है। इसलिए हमने यह आर्टिकल लिखा है ताकि आपको यह समझ में आ जाए कि अश्वगंधा क्या है और अश्वगंधा खाने के एडवांटेज क्या है और अश्वगंधा खाने के साइड इफेक्ट क्या है।

अश्वगंधा क्या है?

यूनानी चिकित्सा पद्धति और आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में हजारों साल से इस्तेमाल की जा रही अश्वगंधा एक बहुत ही मूल्यवान औषधी है जिसका वानस्पतिक नाम Withania somnifera है। अश्वगंधा को इंडिया का जिंसेंग भी कहा जाता है। हमारे इंडिया में मध्य प्रदेश, पंजाब, राजस्थान और गुजरात ‌यह कुछ ऐसे इलाके हैं जहां पर मुख्य तौर पर अश्वगंधा की खेती किसानों के द्वारा की जाती है।

अश्वगंधा के पौधे की लंबाई 35 सेंटीमीटर से लेकर के 75 सेंटीमीटर तक होती है। इंडिया के अलावा नेपाल और चाइना देश में भी इसे पैदा किया जाता है। दुनिया भर में तकरीबन 23 प्रकार की प्रजातियां अश्वगंधा की पाई जाती है और इंडिया में इसकी 2 प्रकार की प्रजातियां पाई जाती है।

« सन्यासी आयुर्वेद सेहत टेबलेट के फायदे और नुकसान

« कडवा सच: Sanyasi ayurveda fake or real| Check Honest Opinion

अश्वगंधा पाउडर के फायदे कौन कौन से है? Ashwagandha powder benefits in hindi

नीचे आपके समक्ष हमने अश्वगंधा powder के फायदे अथवा अश्वगंधा के एडवांटेज बताए हुए हैं।

1: ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करें

एक रिसर्च में यह बात सामने निकल कर के आई है कि डायबिटीज के पेशेंट के लिए अश्वगंधा का सेवन करना लाभदायक माना जा सकता है।

रिसर्च के अनुसार यह माना गया है कि अश्वगंधा की पत्तियों और इसकी जड़ों में फ्लेवोनॉयड नाम का एक बहुत ही उपयोगी तत्व पाया जाता है, जो डायबिटीज को कंट्रोल करने का काम करता है। इसके अलावा इसके अंदर एंटी डायबिटीज और एंटी हाइपरलिपिडेमिक नाम के गुण भी होते हैं जो ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करते हैं और उसे घटाने का काम करते हैं।

2: कैंसर से लड़ने में सहायक

अश्वगंधा के अंदर कुछ ऐसे गुण भी पाए जाते हैं जो कैंसर को पैदा करने वाली कोशिकाओं को खत्म करने का काम करते हैं। हालांकि आपको बता दें कि कैंसर की अवस्था में आपको डॉक्टर की राय सलाह ही माननी चाहिए

3: कोलेस्ट्रोल कम करें अश्वगंधा

अश्वगंधा में एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण भी उपलब्ध होता है जो हमारे हृदय की मांसपेशियों को स्ट्रांग बनाता है और इसके अलावा बॉडी में कोलेस्ट्रोल के लेवल को भी कंट्रोल करके रखता है। इस बात की पुष्टि वर्ल्ड जनरल ऑफ मेडिकल साइंस के द्वारा प्रकाशित हुई एक रिपोर्ट में हो चुकी है।

4: टेंशन दूर करें

अगर किसी व्यक्ति को टेंशन की समस्या है तो उसे अश्वगंधा के अर्क का सेवन करना चाहिए। दरअसल इसके अंदर कोर्टिसोल के लेवल को कम करने के गुण पाए जाते हैं। इसीलिए यह कहा जा सकता है कि टेंशन को घटाने के लिए अश्वगंधा का सेवन किया जा सकता है।

5: वजन बढ़ाने के लिए

जिन लोगों की बॉडी पर मांस नहीं चढ़ता है अर्थात जो लोग शरीर से काफी पतले हैं वह अपने वजन को तेजी के साथ बढ़ाने के लिए अश्वगंधा का सेवन करना चालू कर सकते हैं। इसके लिए अश्वगंधा के पाउडर का सेवन रात को सोने के पहले दो चम्मच गाय के दूध के साथ करना चाहिए। बेहतर परिणाम के लिए वह अश्वगंधा और शतावरी पाउडर का सेवन एक साथ कर सकते हैं।

अश्वगंधा के नुकसान क्या है? 

नीचे आपको अश्वगंधा के द्वारा होने वाले साइड इफेक्ट अथवा अश्वगंधा के डिसएडवांटेज की जानकारी दी गई है।

1: मेडिकल इंटरेक्शन का जोखिम

अगर कोई व्यक्ति पहले से ही किसी बीमारी की मेडिसिन ले रहा है तो उसे अश्वगंधा का सेवन बिना डॉक्टर से पूछे हुए नहीं करना चाहिए क्योंकि कुछ दवा के साथ यह रिएक्शन कर सकती है। खासतौर पर ऐसे लोग जो हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, एंजायटी या फिर डिप्रेशन की दवाई ले रहे हैं।

2: उल्टी

ज्यादा मात्रा में भी अश्वगंधा का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसे अधिक मात्रा में लेने पर आपको कुछ साइड इफेक्ट हो सकते हैं जैसे कि पेट में दस्त, उल्टी

« मामा अर्थ विटामिन सी फेस वाश के फायदे

« Zomato Raw Whey Protein Powder Review in Hindi 

अश्वगंधा की तासीर क्या है?

गर्म तासीर वाले अश्वगंधा को ज्यादा मात्रा में लेने से बचना चाहिए ताकि आपको इसके साइड इफेक्ट का सामना ना करना पड़े। खासकर गर्मियों के मौसम में आपको इसे कम मात्रा में ही लेना चाहिए क्योंकि गर्मियों के मौसम में वैसे ही गर्मी होती है।

ऐसे में आपके पेट को ठंडक की आवश्यकता होती है। इसके अलावा अश्वगंधा का सेवन आपको लंबे टाइम तक नहीं करना चाहिए और अगर आपको लंबे समय तक इसका सेवन करना है तो किसी एक्सपर्ट की राय ले करके ही इसका सेवन करना चालू करें साथ ही बता दे कि जिन लोगों को आंत की प्रॉब्लम है उन्हें इसे नहीं लेना चाहिए।

अश्वगंधा कहां से खरीदें?

अश्वगंधा को आप आसानी से किसी भी लोकल मार्केट से खरीद सकते हैं। आयुर्वेदिक जड़ी बूटी होने के नाते यह आपको किसी भी आयुर्वैद की दुकान पर साथ ही मेडिकल स्टोर पर मिल जाएगी। इसके अलावा यह बड़े-बड़े ग्रॉसरी स्टोर में भी आपको मिल जाएगी। अगर यह आपको अपने घर के आस-पास नहीं मिलती है तो आप इसे ऑनलाइन बुक कर सकते हैं।

अश्वगंधा का उपयोग कैसे करें?

मार्केट में अश्वगंधा आपको पाउडर और चूर्ण के तौर पर प्राप्त होता है और इसका सेवन करने का तरीका भी बहुत ही आसान है। आप इसे शहद के साथ, पानी के साथ या फिर घी में मिलाकर के ले सकते हैं। इसके अलावा बता दें कि मार्केट में अब अश्वगंधा कैप्सूल, अश्वगंधा चाय और अश्वगंधा का रस भी मिल जा रहा है।

इसलिए अगर आप खुद से इसका सेवन करना चाहते हैं तो आप इसे पानी के साथ या फिर दूध के साथ ले सकते हैं। इसके अलावा अगर डॉक्टर ने आपको इसका सेवन करने के लिए कहा है तो आप डॉक्टर से ही इसके सेवन की विधि को पूछ सकते हैं।

« जानें एक्नेगार्ड Soap के फायदे, नुकसान| क्या ये आपके लिए सही है?

निष्कर्ष 

तो साथियों इस पोस्ट को पढने के बाद Ashwagandha powder benefits in hindi जान चुके होंगे, आपको आज का यह पोस्ट कैसा लगा? पसंद आया है तो कृपया इस जानकारी को सोशल मीडिया पर भी सांझा जरुर कर दें!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here